Check the below NCERT MCQ Questions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6 पार नज़र के with Answers Pdf free download. MCQ Questions for Class 6 Hindi with Answers were prepared based on the latest exam pattern. We have provided पार नज़र के Class 6 Hindi MCQs Questions with Answers to help students understand the concept very well.

Students can also read NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 Questions and Answers at LearnInsta. Here all questions are solved with a detailed explanation, It will help to score more marks in your examinations.

पार नज़र के Class 6 MCQs Questions with Answers

Question 1.
इस पाठ के लेखक कौन हैं?
(a) गुणाकर मुले
(b) कृष्णा सोबती
(c) जयंत विष्णु नार्लीकर
(d) केदर नाथ अग्रवाल

Answer

Answer: (c) जयंत विष्णु नार्लीकर


Question 2.
छोटू का परिवार कहाँ रहता था ?
(a) पर्वत पर
(b) समुद्र में
(c) आकाश में
(d) ज़मीन के नीचे कॉलोनी में

Answer

Answer: (d) ज़मीन के नीचे कॉलोनी में


Question 3.
कंट्रोल रूम में जाकर छोटू ने क्या हरकत की?
(a) वह डांस करने लगा
(b) वह चॉकलेट माँगने लगा
(c) वह लाल बटन दबाने के लिए मचलने लगा
(d) उसने मोटर स्टार्ट कर दी।

Answer

Answer: (c) वह लाल बटन दबाने के लिए मचलने लगा


Question 4.
किस कमी के कारण मंगल ग्रहवासी अंतरिक्ष यान छोड़ने में असमर्थ थे?
(a) ऊर्जा की
(b) यंत्रों की
(c) तकनीकी की
(d) ईंधन की

Answer

Answer: (a) ऊर्जा की


Question 5.
मंगल ग्रह के निवासी ज़मीन के नीचे किसके सहारे रहते थे?
(a) रोशनी के सहारे
(b) पानी के सहारे
(c) यंत्रों के सहारे
(d) ईंधन के सहारे

Answer

Answer: (c) यंत्रों के सहारे


(1)

वैसे तो उनकी पूरी कॉलोनी ही जमीन के नीचे बसी थी। यह जो सुरंगनुमा रास्ता था-अंदर दीये जल रहे थे और प्रवेश करने से पहले एक बंद दरवाज़े का सामना करना पड़ता था। दरवाज़े में एक खाँचा बना हुआ था। छोटू ने खाँचे में कार्ड डाला, तुरंत दरवाज़ा खुल गया। छोटू ने सुरंग में प्रवेश किया। अंदर वाले खाँचे में सिक्योरिटी-पास आ पहुँचा था। उसे उठा लिया, कार्ड उठाते ही दरवाज़ा बंद हुआ। छोटू ने चारों तरफ़ नज़र दौड़ाई। सुंरंगनुमा यह रास्ता ऊपर की तरफ़ जाता था……यानी ज़मीन के ऊपर का सफ़र कर आने का मौका मिल गया था।
मगर कहाँ? मौका हाथ लगते ही फिसल गया। सुरंग में जगह-जगह लगाए गए निरीक्षक यंत्रों की जानकारी छोटू को नहीं थी। मगर छोट्र के प्रवेश करते ही पहले निरीक्षक यंत्र में संदेहास्पद स्थिति दर्शाने वाली हरकत हुई, इतने छोटे कद का व्यक्ति सुरंग में कैसे आया? दूसरे निरीक्षक यंत्र ने तुरंत छोटू की तसवीर खींच ली। किसी एक नियंत्रण केंद्र में इस तसवीर की जाँच की गई और खतरे की सूचना दी गई।

Question 1.
छोटू की कॉलोनी कहाँ बसी हुई थी?
(a) जंगल में
(b) ज़मीन के अंदर
(c) सुरंग में
(d) ज़मीन के ऊपर

Answer

Answer: (b) ज़मीन के अंदर


Question 2.
सुरंग में प्रकाश की क्या व्यवस्था थी?
(a) बिजली के बल्ब जले हुए थे।
(b) सुरंग में दीये जल रहे थे।
(c) सुरंग में झरोखों के द्वारा रोशनी आती थी।
(d) सुरंग में अँधेरा था।

Answer

Answer: (b) सुरंग में दीये जल रहे थे।


Question 3.
छोटू ने सुरंग में प्रवेश कैसे किया?
(a) छिपकर
(b) अपने पिता के साथ
(c) वह प्रवेश नहीं कर पाया
(d) खाँचे में कार्ड डालकर

Answer

Answer: (d) खाँचे में कार्ड डालकर


Question 4.
छोटू ने सुरंग में प्रवेश का किसे पता चल गया?
(a) छोटू के पिता को
(b) सुरक्षा गार्ड को
(c) निरीक्षक यंत्र को
(d) इनमें कोई नहीं

Answer

Answer: (c) निरीक्षक यंत्र को


Question 5.
निरीक्षक यंत्र ने क्या किया?
(a) छोटू को पकड़ लिया
(b) छोटू की तस्वीर खींच ली
(c) छोटू को छोड़ दिया
(d) छोटू को अंदर जाने दिया।

Answer

Answer: (b) छोटू की तस्वीर खींच ली


(2)

मैं वहाँ एक खास किस्म का स्पेस-सूट पहनकर जाता हूँ। इस स्पेस-सूट से मुझे ऑक्सीजन मिलती है, जिससे मैं साँस ले सकता हूँ। इसी स्पेस-सूट की वजह से बाहर की ठंड से मैं अपने आपको बचा सकता हूँ। खास किस्म के जूतों की वजह से जमीन के ऊपर मेरा चलना मुमकिन होता है। जमीन के ऊपर चलने के लिए हमें एक विशेष प्रकार का प्रशिक्षण दिया जाता है।

Question 1.
गद्यांश के लेखक का नाम लिखिए-
(a) गुणाकर मुले
(b) कृष्णा सोबती
(c) जयंत विष्णु नार्लीकर
(d) केदार नाथ अग्रवाल

Answer

Answer: (c) जयंत विष्णु नार्लीकर


Question 2.
स्पेस-सूट पहनकर कौन जाता है?
(a) वैज्ञानिक
(b) छोटू के पापा
(c) छोटू
(d) निरीक्षक

Answer

Answer: (b) छोटू के पापा


Question 3.
स्पेस-सूट पहनने से क्या लाभ है?
(a) ठंड से बचाव होता है।
(b) ऑक्सीजन मिलती रहती है।
(c) ठंड से बचाव होता है। व ऑक्सीजन मिलती रहती है। दोनों लाभ होते हैं।
(d) कोई विशेष लाभ नहीं

Answer

Answer: (c) ठंड से बचाव होता है। व ऑक्सीजन मिलती रहती है। दोनों लाभ होते हैं।


(3)

“एक समय था, जब अपने मंगल ग्रह पर सभी लोग ज़मीन के ऊपर ही रहते थे। बगैर किसी तरह के यंत्रों की मदद के. बगैर किसी खास किस्म की पोशाक के हमारे पुरखे ज़मीन के ऊपर रहा करते थे लेकिन धीरे-धीरे वातावरण में परिवर्तन आने लगा। कई तरह के जीव धरती पर रहा करते थे। एक के बाद एक सब मरने लगे। इस परिवर्तन की जड़ में था-सूरज में हुआ परिवर्तन। सूरज से हमें रोशनी मिलती है, ऊष्णता मिलती है। इन्हीं तत्वों से जीवों का पोषण होता है। सूरज में परिवर्तन होते ही। यहाँ का प्राकृतिक संतुलन बिगड़ गया। प्रकृति के बदले हुए रूप का सामना करने में यहाँ के पशु-पक्षी पेड़-पौधे अन्य जीव अक्षम साबित हुए। केवल हमारे पूर्वजों ने इस स्थिति का सामना किया।”

Question 1.
इस गद्यांश में किस ग्रह का उल्लेख हुआ है?
(a) शनि का
(b) बृहस्पति का
(c) मंगल का
(d) पृथ्वी का

Answer

Answer: (c) मंगल का


Question 2.
मंगल ग्रह पर सब लोग कैसे रहते थे?
(a) ज़मीन पर
(b) सुरंग में
(c) धरती के नीचे
(d) विशेष प्रकार के यंत्रों में

Answer

Answer: (a) ज़मीन पर


Question 3.
हमारे पूर्वज धरती पर कैसे रहते थे?
(a) स्पेस सूट पहनकर
(b) यंत्रों के सहारे धरती पर
(c) बिना किसी यंत्र के सहारे धरती पर
(d) आक्सीजन के मास्क लगाकर

Answer

Answer: (c) बिना किसी यंत्र के सहारे धरती पर


(4)

“अपने तकनीकी ज्ञान के आधार पर हमने ज़मीन के नीचे अपना घर बना लिया। ज़मीन के ऊपर लगे विभिन्न यंत्रों के सहारे हम सूर्य-शक्ति, सूरज की रोशनी और गरमी का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। उन्हीं यंत्रों के सहारे हम यहाँ ज़मीन के नीचे जी रहे हैं। यंत्र सुचारु रूप से चलते रहें, इसके लिए बड़ी सतर्कता बरतनी पड़ती है। मुझ जैसे कुछ चुनिंदा लोग इन्हीं यंत्रों का ध्यान रखते हैं।” “बड़ा हो जाऊँगा तो मैं भी यही काम करूँगा” छोटू ने अपनी मंशा जाहिर की।
“बिलकुल! मगर उसके लिए खूब पढ़ना होगा। माँ और पापा की बात सुननी होगी!” माँ ने कहा।
दूसरे दिन छोटू के पापा काम पर चले गए। देखा तो कंट्रोल रूम का वातावरण बदला-बदला सा था। शिफ़्ट खत्म कर घर जा रहे स्टाफ़ के प्रमुख ने टी० वी० स्क्रीन की तरफ़ इशारा किया। स्क्रीन पर एक बिंदु झलक रहा था। वह बताने लगा, “यह कोई आसमान का तारा नहीं है, क्योंकि कंप्यूटर से पता चल रहा है कि यह अपनी जगह अडिग नहीं रहा है। पिछले कुछ घंटों के दौरान इसने अपनी जगह बदली है। कंप्यूटर के अनुसार यह हमारी धरती की तरफ़ बढ़ता चला आ रहा है।”

Question 1.
मनुष्य ने किस आधार पर ज़मीन के नीचे घर बनाया?
(a) साहित्य ज्ञान
(b) व्यावहारिक ज्ञान
(c) तकनीकी ज्ञान
(d) यथार्थ ज्ञान

Answer

Answer: (c) तकनीकी ज्ञान


Question 2.
मनुष्य किसकी शक्ति का प्रयोग करना सीख गया?
(a) सूरज की
(b) मंगल ग्रह की
(b) पृथ्वी की
(d) मशीनों की

Answer

Answer: (a) सूरज की


Question 3.
सतर्कता बरतने की बात क्यों की जा रही है?
(a) ताकि यंत्र सुचारु रूप से चलते रहें।
(b) ताकि दूसरी दुनिया के जीव यहाँ न आ सकें
(c) ताकि मंगल ग्रह दुष्प्रभाव न छोड़ सके
(d) ताकि मशीन कार्य करती रहे।

Answer

Answer: (a) ताकि यंत्र सुचारु रूप से चलते रहें।


(5)

रोज़ाना यही वार्तालाप हुआ करता था छोटू की माँ और छोटू के बीच। उस तरफ़ एक सुरंगनुमा रास्ता था और छोटू के पापा इसी सुरंग से होते हुए काम पर जाया करते थे। आम आदमी के लिए इस रास्ते से जाने की मनाही थी। चंद चुनिंदा लोग ही इस सुरंगनुमा रास्ते का इस्तेमाल कर सकते थे और छोटू के पापा इन्हीं चुनिंदा लोगों में से एक थे।

Question 1.
रोज़ाना किसके बीच क्या वार्तालाप होता था?

Answer

Answer: रोज़ाना छोटू और उसकी माँ के बीच वार्तालाप होता था। यह वार्तालाप सुरंगनुमा रास्ते से होकर जाने के बारे में होता था।


Question 2.
छोटू के पापा कहाँ से काम पर जाया करते थे?

Answer

Answer: छोटू के पापा सुरंग से होते हुए अपने काम पर जाया करते थे।


Question 3.
इस रास्ते की मनाही किनके लिए थी?

Answer

Answer: आम आदमियों के लिए इस रास्ते पर जाने की मनाही थी।


(6)

“मैं वहाँ एक खास किस्म का स्पेस सूट पहनकर जाता हूँ। इस स्पेस सूट से मुझे ऑक्सीजन मिलती है, जिससे मैं साँस ले सकता हूँ। इसी स्पेस सूट की वजह से बाहर की ठंड से मैं अपने आपको बचा सकता हूँ। खास किस्म के जूतों की वजह से जमीन के ऊपर मेरा चलना मुमकिन होता है। ज़मीन के ऊपर चलने-फिरने के लिए हमें एक विशेष प्रकार का प्रशिक्षण दिया जाता है।”

Question 1.
कौन, कहाँ, क्या पहनकर गया?

Answer

Answer: छोट्र के पापा एक खास किस्म का स्पेस-सूट पहनकर सुरंग से होकर अपने काम के स्थल पर जाते हैं।


Question 2.
गद्यांश के पाठ और लेखक के नाम लिखिए?

Answer

Answer:
पाठ का नाम-पार नज़र के।
लेखक का नाम-जयंत विष्णु नार्लीकर


Question 3.
स्पेस सूट की क्या उपयोगिता है?

Answer

Answer: ज़मीन के ऊपर चलने के लिए स्पेस सूट आवश्यक है। उसके बिना ज़मीन पर नहीं चला जा सकता। स्पेस-सूट पहनने वाले को ऑक्सीजन मिलती रहती है, जिससे वह साँस ले सकता है। स्पेस-सूट ठंड से भी बचाता है।


(7)

एक समय था, जब अपने मंगल ग्रह पर सभी लोग ज़मीन के ऊपर रहते थे। बगैर किसी तरह के यंत्रों की मदद के, बगैर किसी खास किस्म की पोशाक के, हमारे पुरखे ज़मीन के ऊपर रहा करते थे लेकिन धीरे-धीरे वातावरण में परिवर्तन आने लगा। कई तरह के जीव धरती पर रहा करते थे। एक के बाद एक सब मरने लगे। इस परिवर्तन की जड़ में था-सूरज में हुआ परिवर्तन। सूरज से हमें रोशनी मिलती है, ऊष्णता मिलती है। इन्हीं तत्वों से जीवों का पोषण होता है। सूरज में परिवर्तन होते ही यहाँ का प्राकृतिक संतुलन बिगड़ गया। प्रकृति के बदले रूप का सामना करने में यहाँ के पशु-पक्षी, पेड़-पौधे अन्य जीव अक्षम साबित हुए। केवल हमारे पूर्वजों ने इस स्थिति का सामना किया।

Question 1.
पहले मंगलग्रह पर लोग कहाँ रहते थे?

Answer

Answer: पहले मंगल ग्रह के सभी लोग ज़मीन के ऊपर रहा करते थे।


Question 2.
हमारे पूर्वज धरती पर कैसे रहते थे?

Answer

Answer: हमारे पूर्वज धरती पर बिना किसी यंत्रों के सहारे रहा करते थे।


Question 3.
धरती पर जीवों में क्या परिवर्तन आया?

Answer

Answer: (ग) वातावरण में आए परिवर्तन के फलस्वरूप धरती पर रहने वाले जीव एक-एक करके मरने लगे।


(8)

“अपने तकनीकी ज्ञान के आधार पर हमने ज़मीन के नीचे अपना घर बना लिया। ज़मीन के ऊपर लगे विभिन्न यंत्रों के सहारे हम सूर्य-शक्ति, सूरज की रोशनी और गरमी का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। उन्हीं यंत्रों के सहारे हम यहाँ ज़मीन के नीचे जी रहे हैं। यंत्र सुचारु रूप से चलते रहें, इसके लिए बड़ी सतर्कता बरतनी पड़ती है। मुझ जैसे कुछ चुनिंदा लोग इन्हीं यंत्रों का ध्यान रखते हैं।”

Question 1.
मनुष्य ने किस आधार पर ज़मीन के नीचे घर बनाया।

Answer

Answer: मनुष्य ने तकनीकी ज्ञान का सहारा लेकर ज़मीन के नीचे घर बनाया।


Question 2.
विभिन्न यंत्रों से क्या काम लिया जाता है ?

Answer

Answer: ज़मीन के ऊपर लगे विभिन्न यंत्रों से सूर्य की शक्ति, सूर्य की रोशनी और गरमी का इस्तेमाल किया जाता है।


Question 3.
सूर्य की रोशनी से गरमी और शक्ति देने वाले उपकरण कहाँ लगे थे?

Answer

Answer: सूर्य की रोशनी, गरमी और शक्ति देने वाले उपकरण धरती के ऊपर लगे थे।


(9)

“जहाँ तक हो सके हमें अपने अस्तित्व को छिपाए ही रखना चाहिए, क्योंकि हो सकता है जिन लोगों ने अंतरिक्ष यान भेजे हैं वे कल को इनसे भी बड़े सक्षम अंतरिक्ष यान भेजें। हमें यहाँ का प्रबंध कुछ इस तरह रखना चाहिए जिससे इन यंत्रों को यह गलतफहमी हो कि इस ज़मीन पर कोई भी चीज़ इतनी महत्त्वपूर्ण नहीं है कि जिससे वे लाभ उठा सकें। अध्यक्ष महोदय से मैं यह दरख्वास्त करता हूँ कि इस तरह का प्रबंध हमारे यहाँ किया जाए।” नंबर तीन सामाजिक व्यवस्था का काम देखते थे।

Question 1.
यह कथन किसका है?

Answer

Answer: यह कथन प्रबंध समिति की बैठक में बोलने वाले तीसरे व्यक्ति थे।


Question 2.
वे अपने अस्तित्व को क्यों छिपाना चाहते थे?

Answer

Answer: वे अपने अस्तित्व को छिपाना चाहते थे क्योंकि वे उस ग्रह से लाभ उठा सकें, उनकी सुरक्षा को कोई खतरा न हो और उनका रहस्य अज्ञात ही बना रहे।


Question 3.
अस्तित्व छिपाए रखने की बात क्यों कही गई है?

Answer

Answer: अपने अस्तित्व को छिपाए रखने की बात इसलिए कही गई है क्योंकि जिन लोगों ने अंतरिक्ष यान भेजे हैं वे कल इनसे बड़े सक्षम अंतरिक्ष यान भेज सकते हैं।


We hope the given NCERT MCQ Questions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6 पार नज़र के with Answers Pdf free download will help you. If you have any queries regarding CBSE Class 6 Hindi पार नज़र के MCQs Multiple Choice Questions with Answers, drop a comment below and we will get back to you soon.